कौन है ये Binod - जो हर जगह कोरोना वायरस से ज़्यादा फैला है?

सब लोग ये जानना चाहते है ये बिनोद कौन है। दरअसल आजकल सोशल मीडिया पर बिनोद (Binod) नाम खूब चर्चा में है, इस नाम को लेकर फेसबुक, ट्विटर और अन्य सोशल मीडिया एप्प्स पर बिनोद के नाम से तरह-२ के मीम्स बनाये जा रहे है।कौन है ये Binod - जो हर जगह कोरोना वायरस से ज़्यादा फैला है?

Slayy Point करके एक यूट्यूब चैनल है. लोगों की ऊटपटांग आदतों का मज़ाक बनाता है. रोस्ट किया जाता है. अभ्युदय और गौतमी आते हैं, उसमें बिन लॉजिक की बात में लॉजिकल सवाल पूछ बहुत सही टांग खिंचाई करते हैं सबकी. उनने बनाया एक वीडियो. Why indian comment section is garbage नाम का और बताया कि कैसे लोग कमेंट्स में कुछ भी लिख देते हैं. ऐसे ही एक आदमी Binod Tharu का कमेंट दिखाया कि उसने कमेंट में अपना ही नाम Binod लिख दिया और 7 लोग आकर उसे लाइक भी कर गए और उसके बाद उस बन्दे की मौज ली. दिखाया कैसे उसके लिए हर बात का जवाब बिनोद ही होगा.

वीडियो चला, लोगों का ध्यान Binod की बिनोदता पर गया तो उस कमेंट बॉक्स में भी बिनोद छा गया. वहां से उठा तो पूरे यूट्यूब पर छा गया. जिसके बाद फेसबुक-ट्विटर समेत सोशल मीडिया के तमाम कमेंटबॉक्स में फ़ैल गया. फिलहाल पोस्ट में बात राम मंदिर की हो या कोरोना वैक्सीन की कमेंट में बस बिनोद लिखा नज़र आता है.

ये उस बिनोद की कथा है, जो कल कोई मेरे कमेंटबॉक्स में लिख गया और मैं भौंचक्का रह गया कि लोग Binod को क्यों याद कर रहे हैं. कुल जमा बिनोद एक नाम नहीं सोच है. ये हर उस आदमी का पर्याय है, जो कमेंट में इरिलेवेंट बात लिख जाता है. 15 जुलाई को आया स्ले पॉइंट का वीडियो, अब तक ग़दर काट रहा है और बिनोद नाम को कोरोना वाले वायरस से ज़्यादा फैला चुका है.

ये भी पढ़ें: ट्विटर पर Paytm हुआ 'Binod', जानें क्या है वजह?

इतनी कहानी अब तक आपको पता चल ही चुकी होगी, मौज तो बिनोद की बिनोदता में है, उसके फैलाव और विस्तार में है. Binod का इतना नाम इसलिए भी हुआ क्योंकि लोकल वोकल हो पड़ा, आत्मनिर्भर मेमेबाज़ों ने देसी मेमेंओं की बाढ़ ला दी.

देखिए जनता ने #Binod पर कैसे-कैसे मीम बनाए, क्योंकि ट्रेंड का मज़ा तो बस उसी में है.

हम सभी के मन में बिनोद बसा है. इसलिए लो ये मीम नवाज़ वाला.

After seeing #binod everywhere,
Everyone's mood right now.* pic.twitter.com/rY0qibbNot