आयुष्मान भारत योजना से 1 करोड़ से ज्यादा लोगों को फायदा, PM नरेंद्र मोदी ने दी बधाई

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) ने Ayushman Bharat स्कीम के लाभार्थियों (Beneficiaries) की संख्या 1 करोड़ के पार पहुंचने पर सभी लाभार्थियों को बधाई दी है. इस मौके पर उन्होंने कहा कि हर भारतीय के लिए यह गर्व का विषय है.आयुष्मान भारत योजना से 1 करोड़ से ज्यादा लोगों को फायदा, PM नरेंद्र मोदी ने दी बधाई

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) ने Ayushman Bharat स्कीम  के लाभार्थियों (Beneficiaries) की संख्या 1 करोड़ के पार पहुंचने पर सभी लाभार्थियों को बधाई दी है. इस मौके पर उन्होंने कहा कि हर भारतीय के लिए यह गर्व का विषय है. दो साल से भी कम समय में इस पहल का कई जिंदगियो पर सकारात्मक प्रभाव पड़ा है. मैं सभी लाभार्थियों और उनके परिवारों को बधाई देता हूं. मैं उनके अच्छे स्वास्थ्य की भी कामना करता हूं.

इस स्कीम की पोर्टेबिलिटी सबसे बड़ा फायदा
उन्होंने कहा कि इस आयुष्मान भारत स्कीम का सबसे बड़ा फायदा इसकी पोर्टेबिलिटी (Portability) है. लाभार्थी न केवल जहां पंजीकृत हैं, बल्कि भारत के अन्य हिस्सों में भी उच्च गुणवत्ता और सस्ती चिकित्सा देखभाल प्राप्त कर सकते हैं. यह उन लोगों की मदद करता है जो घर से दूर काम करते हैं या ऐसी जगह पर रजिस्टर्ड हैं जहाँ वे स्वयं नहीं हैं.

सबसे बड़ा स्वास्थ्य सेवा कार्यक्रम बना
प्रधानमंत्री ने कहा कि 'मैं  हमारे डॉक्टरों, नर्सों, स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं (Health workers) और आयुष्मान भारत से जुड़े सभी लोगों की सराहना करता हूं. उनके प्रयासों ने इसे दुनिया का सबसे बड़ा स्वास्थ्य सेवा कार्यक्रम बना दिया है. इस पहल ने कई भारतीयों, विशेष रूप से गरीबों और पिछड़े वर्ग का विश्वास जीता है'.

जाने कैसे हर महीने कमाएं 30 हजार

कोरोना महामारी में भी मिल रहा है फायदा
Covid 19 संकट में सरकार की आयुष्‍मान भारत (Ayushman Bharat) योजना काफी मददगार साबित हो रही है. इस योजना में हर परिवार को सालाना 5 लाख रुपये तक का free treatment मिलता है. योजना के तहत अबतक कुल 21,494 अस्पताल दायरे में आ चुके हैं. सरकार का लक्ष्य इस योजना में 50 करोड़ लोगों को लाभ देना है. अगर आप भी इसका पात्र बनना चाहते हैं तो इसका तरीका काफी आसान है.

सरकार ने गरीबों के लिए शुरू की थी ये योजना
आर्थिक रूप से कमजोर लोगों को बीमारी के इलाज के लिए भारत सरकार ने आयुष्मान भारत योजना शुरू की थी. इस योजना के तहत गरीब और मजदूर वर्ग के लोग सरकारी या प्राइवेट हॉस्पिटल में 5 लाख रुपये तक का इलाज बिल्कुल मुफ्त करवा सकते हैं. इलाज का पूरा खर्च सरकार उठाती है. आयुष्मान भारत गोल्डन कार्ड देश के हर ग्रामीण और शहरी इलाकों में बनाए जा रहे हैं. इस योजना में Surgery, मेडिकल डे केयर ट्रीटमेंट, diagnostic समेत 1350 इलाज करवाए जा सकते हैं.

इस तरह बनवाएं अपना कार्ड

  • प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना की वेबसाइट pmjay.gov.in पर जाएं. यहां Am I Eligible ऑप्शन दिखाई देगा. इस पर click करें.
  • अपना रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर और वहां दिखाए जाने वाले captcha कोड को दर्ज करना है. कोड भरने के बाद आपको otp जनरेट करने के लिए लिंक पर क्लिक करना होगा. यहां क्लिक करते ही मोबाइल फोन पर ओटीपी आ जाएगा. अब इस ओटीपी को वेबसाइट पर दर्ज कर दें.  
  • यहां आपको एक ऑप्शन में राज्य का नाम और दूसरे ऑप्शन में कैटेगरी जैसे- सर्च बाई नेम या सर्च बाई एचएचडी नंबर भरना होगा.
  • अगर आप सर्च बाई नेम ऑप्शन पर क्लिक करते हैं तो आपका नाम, पिता-माता का नाम, उम्र, जिला जैसी जानकरी दर्ज करनी होंगी.
  • कोई ऑप्शन चुनकर उसमें मांगी गई सारी जानकारी दर्ज कर दें. जानकारी दर्ज करते ही आपके सामने रिजल्ट आ जाएगा कि आप गोल्डन कार्ड के लिए पात्र हैं या नहीं.

डाउनलोड करें कार्ड
कार्ड डाउनलोड करने के लिए आपको pmjay.gov.in वेबसाइट पर लिंक मिलेगा. यहां लॉगइन ऑप्शन पर क्लिक करें. अपना ई-मेल आईडी और पासवर्ड डालकर लॉगइन करना होगा. अब नए पेज पर आधार नंबर दर्ज करने का ऑप्शन आएगा. आपके सामने अप्रूव्ड बेनिफिशियरी का ऑप्शन दिखाई देगा. इस ऑप्शन को क्लिक करने से आपका गोल्डन कार्ड अप्रूव्ड हो जाएगा. आपके सामने एक लिस्ट होगी, इस लिस्ट में अपना नाम खोज लें. नाम खोजने के बाद उसका एक प्रिंट ले लें.

जाने प्रवासी मजदूरों को काम देने के लिए योगी सरकार का प्लान